Sarvanam Ki Paribhasha, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित

आज हम जानेगे की Sarvanam Ki Paribhasha | सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित | सर्वनाम किसे कहते है | सर्वनाम क्या है, सर्वनाम का अर्थ | आपको नीचे बताने वाले है.

Sarvanam Ki Paribhasha-

आज हम जानेगे की sarvnaam definition in Hindi | Pronoun definition in Hindi | Sarvanam ke prakar | Pronoun rules in Hindi | Sarvanam Ke udaharan के बारे में बताने वाले है.

सर्वनाम की परिभाषा – संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों को सर्वनाम कहते हैं।

सर्वनाम एक विकारी शब्द है।

सर्वनाम शब्द ‘सर्व’ और ‘नाम’ शब्दों से मिलकर बना है, जहाँ ‘सर्व’ शब्द का अर्थ ‘सभी’ या ‘सब’ तथा ‘नाम’ का अर्थ हिंदी व्याकरण में ‘संज्ञा’ से लिया जाता है।

सर्वनाम का शाब्दिक अर्थ सभी का नाम है। वचन व कारक में इनका परिवर्तन हो जाता है, लेकिन लिंग के आधार पर इसका परिवर्तन नही होता है।

जैसे:- मैं, तुम, हम, वह, आप, उसका, उसकी, आदि।

सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित- Sarvanam Ke udaharan

  • वे कुछ खा रहे हैं।
  • मैं लिखना पसंद करती हूँ।
  • मुझे संगीत बहुत पसंद है।
  • तुम एक बहादुर लड़की हो।
  • वह फुटबॉल खेल रहा है।
  • वह कल माँ के साथ बाजार जाएगी।
  • वह कौन है, जो खेत में घुस रहा है?
  • वह पैन मेरा नहीं है।
  • उसने मुझे फोन किया था।
  • पिताजी कल किसकी बात कर रहे थे?
  • मेरे पास एक बुक है।
  • हम कल मेले जायेंगें।
  • तुम कौन हो?
  • यहां बरसात हो रही है।
  • वहां जाना मना है।
  • यह घर मेरे दादाजी ने बनवाया था।
  • मैंने आज व्यायाम नहीं किया।
  • कोई आ रहा है।
सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित

सर्वनाम के भेद – Sarvanam ke prakar-

अब आपको हम यंहा पर Types of pronouns in Hindi के बारे में बताने वाले है-

  1. पुरुषवाचक सर्वनाम
  2. निश्चयवाचक (संकेतवाचक) सर्वनाम
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम
  4. संबंधवाचक सर्वनाम
  5. प्रश्नवाचक सर्वनाम
  6. निजवाचक सर्वनाम

1-पुरुषवाचक सर्वनाम-

जो सर्वनाम जो उत्तम पुरुष (बोलने वाले), मध्यम पुरुष (सुनने वाले) और अन्य पुरुष (जिसके बारे में बात की जाये) के लिए आता है, उसे पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे : उसने, वह, मैं, तुम, उस आदि।

उदाहरण :

  • मुझे पता था कि कल तुम घर जाओगी।
  • यह मेरा घर है।
  • वह मेरा घर नहीं है।
Sarvanam Ki Paribhasha

पुरुषवाचक सर्वनाम के तीन प्रकार होते है:

  1. उत्तम पुरुष
  2. मध्यम पुरुष
  3. अन्य पुरुष

2- निश्चयवाचक सर्वनाम-

जिन शब्दों के माध्यम से वक्ता के निकट अथवा दूर के किसी निश्चित व्यक्ति व वस्तु का बोध होता है, वह निश्चयवाचक सर्वनाम कहलाते है।

जैसे:- यह, वह, इस, वे, उस, ये, आदि।

जब किसी निकटवर्ती व्यक्ति अथवा वस्तु की और निश्चित संकेत करना होता है, तो हम निश्चयवाचक सर्वनाम का प्रयोग करते है।

उदाहरण

वह मेरा कुत्ता नहीं है।

इस वाक्य में किसी निश्चित व्यक्ति व वस्तु की बात हो रही है। अतः यह निश्चयवाचक सर्वनाम है।

यह मेरी पुस्तक है।

इस वाक्य में किसी वस्तु की बात हो रही है। अतः यहाँ निश्चयवाचक सर्वनाम का प्रयोग हुआ है।

3-अनिश्चयवाचक सर्वनाम-

जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित व्यक्ति या वस्तु का बोध नहीं होता है, उन्हें अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं।

‘कोई’ एवं ‘कुछ’ अनिश्चयवाचक सर्वनाम हैं।

उदाहरण:

वहां कोई तो था।
इस वाक्य में ‘कोई’ शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम है। इस वाक्य में स्पष्ट नहीं है कि वहां कौन था।

कुछ गड़बड़ है।
इस वाक्य में भी ‘कुछ’ शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम है। अनिश्चितता की स्थिति यहाँ भी बनी हुई है।

4-संबंधवाचक सर्वनाम-

संज्ञा के स्थान पर आने वाले जिन दो सर्वनाम शब्दों से संबंध का भाव प्रकट होता है उसे संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं।

जैसे:

  • तुमनें जो कार मांगी थी, यह वही कार है।
  • तुम जो बोलोगे मैं वैसा ही करूँगा।

5-निजवाचक सर्वनाम-

जो सर्वनाम तीनों पुरुष (उत्तम, मध्यम और अन्य) में अपना होने की अवस्था या भाव या अपनापन; निजता का वह निजवाचक सर्वनाम कहलाते हैं।

उदाहरण-

  • आप अपना काम खुद कर लेना।
  • मैं अकेला ही कार साफ़ कर लूंगा।
  • वह स्वयं स्कूटी से स्कूल चली जाती है।
सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित

6-प्रश्नवाचक सर्वनाम-

जिन सर्वनाम शब्दों से प्रश्न का बोध होता है उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं। कौन, क्या, किसकी आदि प्रश्नवाचक सर्वनाम हैं।
जिस वाक्य में प्रश्नवाचक सर्वनाम प्रयुक्त होते हैं, वह वाक्य प्रश्न बन जाता है।

उदाहरण:-

  • भारत का प्रधानमंत्री कौन है?
  • यह पुस्तक किसकी है?
  • राम के पिता का नाम क्या है?

सर्वनाम को पहचाने के उदाहरण- Pronoun rules in Hindi

Sarvanam Ki Paribhasha

यह भी पढ़े –

Sarvanamik Visheshan Ki Paribhasha Or Udaharan

Kriya Ki Paribhasha, क्रिया की परिभाषा उदाहरण सहित

Samas Ki Paribhasha, समास की परिभाषा उदहारण सहित

Sangya Ki Paribhasha, संज्ञा की परिभाषा उदाहरण सहित

Visheshan Ki Paribhasha, विशेषण की परिभाषा उदाहरण सहित

Ras Ki Paribhasha, रस की परिभाषा उदाहरण सहित

Alankar Ki Paribhasha Udaharan Sahit, अलंकार की परिभाषा

Ayadi Sandhi Ki Paribhasha, अयादि संधि की परिभाषा हिंदी में.

निकर्ष-

  • जैसा की आज हमने आपको Sarvanam Ki Paribhasha, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित जानकारी के बारे में आपको बताया है.
  • इसकी सारी प्रोसेस स्टेप बाई स्टेप बताई है उसे आप फोलो करते जाओ निश्चित ही आपकी समस्या का समाधान होगा.
  • यदि फिर भी कोई संदेह रह जाता है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में जाकर कमेंट कर सकते और पूछ सकते की केसे क्या करना है.
  • में निश्चित ही आपकी पूरी समस्या का समाधान निकालूँगा और आपको हमारा द्वारा प्रदान की गयी जानकरी आपको अच्छी लगी होतो फिर आपको इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है.
  • यदि हमारे द्वारा प्रदान की सुचना और प्रक्रिया से लाभ हुआ होतो हमारे BLOG पर फिर से VISIT क

15 thoughts on “Sarvanam Ki Paribhasha, सर्वनाम की परिभाषा उदाहरण सहित”

Leave a Comment